ट्रेवल

राजा महाराजाओं की लाइफस्टाइल का अनुभव कराती है भारत की ये लक्ज़री ट्रेने

ट्रेनों से यात्रा करने का जुनून कुछ अलग ही होता है। ट्रैन के पहियों और पटलियो से आने वाली आवाज हमारे अंदर तो हलचल पैदा करती ही  है साथ ही ट्रैन से बाहर दिखने वाले नज़ारे यात्रा को और ज्यादा रोमांचक बना देते हैं। और यदि यह जर्नी  एक लक्जरी ट्रेन में हो तो बात ही कुछ और है।

ये सबकुछ हमारी असाधारण यात्रा और गंतव्य तक पहुंचने के रोमांच को कई गुना बड़ा देता है। शाही ट्रेनो से की जाने वाली ये यात्रा राजा महाराजाओ के समय की याद दिलाती है क्योकि पुराने युग की मेजवानी जो इसमें शामिल होती है और लक्जरी जो आज के ज़माने के हिसाब से होती है सफर करने के अनुभव को विचित्र और दिलचस्प बनती है। 

source 

इस भावना को ध्यान में रखते हुए भारतीय रेलवे भारत के कई महत्वपूर्ण स्थानों पर शाही, शानदार और समृद्ध यात्रा उपलब्ध कराती है जो समान रूप से आकर्षक और भव्य होती हैं। हमारे देश में  ब्रोकैड के माध्यम से पहियों पर ये शाही गाड़ियां देशी और विदेशी लोगो को उनके गंतव्यों तक पहुंचने और और जिंदगी भर याद रहने वाले अनुभव देती है। 


 

सभी प्रकार की आधुनिक सुविधाएँ

source 

इन सभी लक्ज़री ट्रेनों में सभी प्रकार की ऑन-बोर्ड सुविधाए उपलब्ध कराई जाती है जिसमे वाई-फाई इंटरनेट, एलसीडी टीवी, डायरेक्ट डायल टेलीफोन, आधुनिक रूप से सजा भारतीय शास्त्रीय इंटीरियर, लिखने पड़ने के लिए डेस्क, शावर के साथ संलग्न बाथरूम, गद्देदार बिस्तर, इलेक्ट्रॉनिक लॉक, जिम और स्पा और आधुनिक समय में इस्तेमाल की जाने वाली सभी अंदरूनी सुविधाए शामिल होती हैं।

ये शानदार ट्रेनें भोजन के दो विकल्प उपलब्ध कराती है , एक बैठक लाउंज में और दूसरा एक पूरी तरह से स्टॉक में उपलब्ध बार। मेहमान पारंपरिक मेनू के साथ इंटनेशनल मेनू से शानदार व्यंजनों का आनंद भी ले सकते हैं।

दिन भर की यात्रा और दर्शनीय स्थलों के भ्रमण बाद आराम करने के लिए बेड भी मौजूद होता यही । ‘टेबल डी होट’ भोजन के अलावा, मेहमान आ-ला-कार्ट मेन्यू या एन-सूट के माध्यम से अपनी पसंद का खाना भी आर्डर कर सकते हैं।


 

महाराजा एक्सप्रेस

source

 महाराजा एक्सप्रेस पश्चिम की ओरिएंट एक्सप्रेस को टक्कर देने के लिए बनाई गई थी और वर्ल्ड ट्रैवल अवॉर्ड्स से लगातार 2012 से 2016  तक ‘वर्ल्ड लीडिंग लक्जरी ट्रेन’ पुरस्कार से सम्मानित भी हो चुकी है। 

अपने राज शाही स्वागत और बेहतरीन लक्जरी सुविधा के साथ , यह ट्रेन 7 पैन-इंडिया यात्राएं उपलब्ध कराती है जो विभिन्न एरिया को  कवर करती है जिसमे और मुंबई, अजंता, उदयपुर, जोधपुर, बीकानेर, जयपुर, रणथंभौर, आगरा, दिल्ली जैसे स्थल के नज़ारे शामिल है ।

इसकी यात्रा का सीजन अक्टूबर से अप्रैल तक का होता है। ट्रैन 2591 किमी की दुरी दूरी कवर करती है। यात्रा और किराय से सम्बंधित जानकारी के लिए आप महाराजा एक्सप्रेस की वेबसाइट विजिट कर सकते है। 


 

गोल्डन रथ

source

कर्नाटक राज्य पर्यटन विकास निगम की पहल, गोल्डन रथ कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु के दक्षिण भारतीय राज्यों में सफर कराती है। यह 2 शानदार क्यूरेटेड लक्जरी यात्रा की सुविधा देती है जिसमे  विश्व स्तरीय स्थल,वन्यजीव अभयारण्य, राजसी महलों और बैंगलोर, चेन्नई, पांडिचेरी, तंजावुर, मदुरै, तिरुवनंतपुरम, एलेप्पी, कोच्चि के सांस्कृतिक स्मारकों को देखना का मौका देती है। 

ट्रैन के यात्रा का सीजन अक्टूबर से अप्रैल होता है और ट्रैन लगभग 1,888 किमी दूरी कवर करती है 


 

पैलेस ऑन व्हील्स

source

यह भारत की पहली लक्जरी ट्रेन है जो लक्ज़री और सुंदरता के एक पुराने युग की समृद्धि और आकर्षण को पुनर्जीवित करती है।दिल्ली, जयपुर, सवाई माधोपुर, चित्तौड़गढ़, उदयपुर, जैसलमेर, जोधपुर, भरतपुर, आगरा होते हुए इस  असाधारण यात्रा में महलों, किलों, संग्रहालयों, वन्यजीवन और ताजमहल के सुन्दर नज़ारे भी शामिल किये गए है ।

इस ट्रैन का सीजन सितंबर से अप्रैल तक का होता है जो लगभग 2,411 किमी की दूरी कवर करती है। 


 

डेक्कन ओडिसी

source

जैसा कि नाम से पता चलता है कि यह ट्रैन आपको पूर्व मराठा साम्राज्य की भव्यता में से रूबरू करने वाले महाराष्ट्र के दक्कन मैदानों में एक मजेदार यात्रा पर ले जाती है।

ट्रेन महाराष्ट्र, राजसी पश्चिमी घाटों के माध्यम से डेक्कन पठार और एक विशाल और विविध महाद्वीप के कोंकण क्षेत्रों में घूमती है। इस यात्रा कार्यक्रम में पश्चिम-मध्य भारत के कुछ सबसे प्रमुख और विविध स्थलों के दौरे भी शामिल हैं, जिसमें नाशिक के पवित्र शहर की यात्रा है,  अनजान अजंता और एलोरा गुफाओं के लिए भारत की वाइन राजधानी कोल्हापुर के ऐतिहासिक शहर के कई अनुभवों के साथ , भारत का सबसे लोकप्रिय छुट्टी गंतव्य गोवा में और फिर रत्नागिरी के पवित्र शहर की यात्रा।

आगरा में ताजमहल के नज़ारे देखकर उदयपुर और जयपुर में राजस्थान की रॉयल संस्कृति के माध्यम से राजधानी शहर नई दिल्ली की ओर बढ़ जाती है ।

इसकी यात्रा का सीजन अक्टूबर से अप्रैल तक है और ट्रैन  लगभग 3,66 9 किमी दूरी कवर करती है । 


 

विज्ञापन