फैक्ट्स

नोट पर दिखने वाली गाँधी जी की मुस्कुराते हुए चेहरे की ये फोटो असल में यहाँ से ली गई थी

Did you know the occasion where the mahatma gandhi face was clicked that we see on Indian Currency Notes

“राष्ट्र पिता” महात्मा गाँधी के हमने अनगिनत संघर्षों के बारे में सुना है जो उन्होंने हमें एक स्वतंत्र भारत देने के लिए किये थे। वह कई अन्य स्वतंत्रता सेनानियों के साथ आजादी के लिए लड़े और उनकी उपलब्धि को चिह्नित करने के लिए, उनकी तस्वीरों का उपयोग भारतीय मुद्रा के नोट्स पर लम्बे समय से किया जा रहा है और नोटों पर ही नहीं बल्कि गाँधी जी की मिलने वाली ज्यादातर फोटो में सबसे आम फोटो यही है।

हालांकि, यह हमेशा एक विवादास्पद विषय रहा है और लोग इस बात पर बहस करते हैं कि गाँधी जी का फोटो करेंसी पर लगाकर अन्य स्वतंत्रता सेनानियों के प्रयासों की उपेक्षा कैसे की जा सकती है। लेकिन क्या आप इन मुद्रा नोटों पर देखे जाने वाली सबसे आम तस्वीर के पीछे का इतिहास जानते हैं?

कई लोगो का मानना है कि ये गाँधी जी का पोर्ट्रैट है।

 

इस पिक्चर में लार्ड फ्रेडरिक विलियम पेथिक-लॉरेंस के बगल में खड़े महात्मा गाँधी के फोटो से शायद आपको कुछ अंदाजा मिले। 

Origin of फोटोsource

लॉर्ड फ्रेडरिक विलियम पेथिक-लॉरेंस एक ब्रिटिश राजनीतिज्ञ थे। वह 20 वीं शताब्दी के पहले दो दशकों के दौरान ग्रेट ब्रिटेन में महिला मताधिकार आंदोलन के नेता थे और फिर भारत राज्य और बर्मा के सचिव के रूप में कार्यरत थे।

 

source

हकीकत में, गाँधी जी की ये छवि लॉर्ड फ्रेडरिक विलियम पेथिक-लॉरेंस के साथ खींची गई फोटो से ही क्रॉप की गई थी। ये फोटो 1946 में एक अनजान फोटोग्राफर द्वारा ली गई थी। 

 

smiling फोटो facts of mahatma gandhi on indian currency

यह फोटो पूर्व वाइसराय हाउस में लिया गया था, जिसे अब राष्ट्रपति भवन के नाम से जाना जाता है।

 

फोटो की रियल इमेज के मिरर व्यू को महात्मा गाँधी सीरीज नोट पर इस्तेमाल किया जाता है महात्मा गाँधी सीरीज के पोर्टेन्ट वाला पहला 500 रुपए का नोट 1987 में सामने आया था बाद में रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने 1996 से महात्मा गाँधी सीरीज नोट रिलीज़ करना शुरू किये। और तब से 5 , 10 , 20 ,50 , 100, 500, 1000 और अब 2000 का  नोट रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया रिलीज़ कर चुकी है।

विज्ञापन