सोशल हैप्पनिंग

मेल जर्नलिस्ट ने ट्विटर पर शेयर किया अपना #MeToo मूवमेंट लोगो ने किया ट्रोल

#MeToo से सिर्फ महिलाए ही अपने साथ हुए दुर्वयवहार के बारे बात नहीं कर रही है,बल्कि पुरुष भी इसमें शामिल हो गए हैं और दुनिया को यह बता रहे हैं कि कैसे एक आदमी भी यौन शोषण के शिकार हो सकता है और यह भी उनके लिए समान रूप से दर्दनाक है।

एक स्पोर्ट जर्नलिस्ट आयुष शर्मा ने कुछ समय पहले अपने साथ हुए दुर्व्यवहार को ट्विटर पर शेयर किया है। उन्होंने ट्वीट किया कि कैसे उन्हें एक महिला कर्मचारी द्वारा बहुत बड़ी मीडिया हाउस में इंटरव्यू के दौरान गलत तरीके से छू ने का आरोप लगाया। उसने इस चीज़ का विरोध किया और महिला को उसे जाने के लिए भी अनुरोध किया।

उन्होंने अपने चार ट्वीट में अपने साथ हुई घटना के बारे में बताया ;

मेरे साथ भी #MeToo से जुड़ा किस्सा है सुनाने के लिए। एक इंटरव्यू के दौरान, एक  प्रतिष्ठित मीडिया हाउस में डिपार्टमेंट सीनियर की एक  महिला ने मुझे कुछ विशेष फेवर करने  के लिए कहा, अगर मुझे आर्गेनाइजेशन में शामिल होना है तो। मैं यह सुनकर आश्चर्यचकित हुआ और कहा, ‘किस तरह का फेवर?’

— Aayush Sharma (@AayuJourno) October 7, 2018

उसने अपने बालों को खोला और दरवाजा बंद कर दिया। उसने कहा, ‘देखो, मुझे जिस चीज की ज़रूरत है,मुझे लगता है कि तुम वो करने के लिए सबसे सही हो’। वह मेरे पास आई और अपना हाथ मेरी जांघ पर रख दिया। इससे मुझे थोड़ा असहज महसूस हुआ क्योंकि बुरे सपने में भी , मैं इसकी उम्मीद कर रहा था।

— Aayush Sharma (@AayuJourno) October 7, 2018

मैंने उसका हाथ हटाया और वहा से निकलने की कोशिश की। उसने कहा, ‘अगर तुम चिल्लाए , तो मैं सबको बता दूंगी कि तुमने मेरे प्राइवेट पार्ट्स को छूने की कोशिश की है। मैं सिर्फ एक सेकंड में तुम्हारे करियर को बर्बाद कर सकती हूं। मैं एक प्रेशर था  में, मैं डर गया था। मैंने कहा, ‘कृपया, मुझे जाने दो। मैं किसी को नहीं बताऊंगा ‘।

— Aayush Sharma (@AayuJourno) October 7, 2018

लेकिन वह कोई भी बात सुनने के मूड में नहीं थी। वह मेरे करीब आ गई और तीन बार मेरे प्राइवेट पार्ट को छुआ। वो जो भी कर रही थी उससे मुझे घृणा आ रही थी और मैं डर भी रहा था कि अगर मैंने कुछ गलत किया, तो परिणामस्वरूप मुझे ही सारी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। जब चीज़े जरुरत से ज्यादा होने लगी , तो मैंने उसे पीछे को धक्का दिया।

— Aayush Sharma (@AayuJourno) October 7, 2018

मैंने दरवाजा खोला और वापस चला गया। उस दिन के बाद, कम से कम एक महीने तक, मुझे उससे संदेश मिले कि वह मेरे करियर को बर्बाद कर देगी और वह मेरे खिलाफ एक मामला दर्ज करने जा रही है। इसके कारण, मुझे नंबर बदलना पड़ा, मेरा एक दोस्त जो उसी मीडिया हाउस में काम करता था, ने मुझे बताया कि वह उससे मेरे बारे में पूछ रही थी।

— Aayush Sharma (@AayuJourno) October 7, 2018

मैं उसे उस कठिनाई और उस महिला से मिले संदेश के बारे में बताने के लिए ताकत भी इकट्ठा नहीं कर सका। क्योंकि शायद वो महिला मेरे दोस्त के साथ ऐसा करना शुरू कर देगी। इस घटना को एक साल हो चुके है , और मुझे अभी भी डर लगता है कि उस दिन मेरे साथ क्या हुआ।

— Aayush Sharma (@AayuJourno) October 7, 2018

वो 10 मिनट मेरे जीवन में सबसे डरावने क्षण थे। किसी को भी इस तरह की जघन्य स्थितियों का सामना नहीं करना चाहिए। चाहे कोई लड़की या लड़का हो, यह उनकी बहुत सारी मानसिक शक्ति छीन लेता है और इसे कमजोरी में बदल देता है। मुझे उम्मीद है कि लोग सुनेंगे और अपने अनुभवों के साथ बाहर आयेंगे।

— Aayush Sharma (@AayuJourno) October 7, 2018

आखिरकार, उन्होंने अपनी कहानी को लोगो तक पहुंचने के लिए पर्याप्त साहस इकट्ठा किया लेकिन दुर्भाग्यवश, असंवेदनशील लोगों उनके  ट्रोल करना शुरू कर दिया। लोगो ने उन्हें ‘फेकू’ और उनकी कहानी, ‘मनगढ़त’ बताई।

ये होता है जब कोई व्यक्ति अपने साथ हुई घटना और बुरे समय के बारे में कुछ शेयर करता है,। लोग हँसते हैं, आपको ‘फेकू’ कहते हैं और आपकी कहानी को ‘कवर फायर स्टोरी’ कहते हैं। मैं केवल कल्पना कर सकता हूं कि महिलाओं को अपनी #MeToo कहानी कहने से पहले क्या करना पड़ता होगा।

— Aayush Sharma (@AayuJourno) October 7, 2018

आयुष ने उन लोगों का शुक्रिया अदा किया है जिन्होंने उनकी मदद की है साथ ही वे उन लोगों से निराश हैं जो सोचते हैं कि एक आदमी के साथ दुर्व्यवहार या सेक्सुअल हरस्मेंट नहीं हो सकते। उन्होंने ट्रॉलरों से इस तरह एक संवेदनशील मुद्दा का मजाक नहीं बनाने की अपील की।

About the author

Neelesh

Neelesh

Movie and Tech lover. Inspired and Hardcore Learner Content Producer, Love to write and create. Unlocking thoughts and Ideas, share and experience the things happened around. Speak less that way write.

विज्ञापन