fbpx
मनोरंजन

मार्वल्स कॉमिक्स की तरह सही प्लेटफार्म और प्रेजेंटेशन मिलता तो ये इंडियन कॉमिक्स सुपर हीरो लोगो के जेहन से ऐसे गायब नहीं होते

1939 में टाइमली पब्लिकेशन के नाम से शुरू हुई मार्वल्स ने 1961 में फैंटास्टिक फोर से रफ़्तार पकड़ने के बाद से अपनी कॉमिक्स और फिल्मो की चकाचौंध से लोगो को लगातार ध्यान खींचते रहते है।

इसी समय में इंडिया में भी कॉमिक्स के चलन शुरू हो गया था और हमारे पौराणिक चरित्रों से प्रेरणा लेते हुए कई इंडियन सुपर हीरो बनाये गए और काफी पॉपुलर भी हुए लेकिन उन्हें मार्वल्स की तरह प्लेटफार्म और क्रिएटिविटी के आभाव में लोगो के यादो से धीरे धीरे गायब हो गए और आज अगर किसी बच्चे से पूछेगे तो वो शायद ही किसी इंडियन कॉमिक्स सुपर हीरो के बारे में जनता होगा।

ऐसे कई सारे सुपर हीरो है जिनकी सुपर पावर्स और केरेक्टेराइज़शन बहुत ही रिलेटेबल है जो नेचर , पौराणिक पत्रों से पूरी तरह मेल खाता है।

source

source

source

source

source

source

 

source

source

 

About the author

Neelesh

Neelesh

Movie and Tech lover. Inspired and Hardcore Learner, Content Producer, Love to write and create. Unlocking thoughts and Ideas to share and experience the things happening around. blood group "be positive."

विज्ञापन