समाचार

इस साल दिखेगा सदी का सबसे लम्बा चंद्रग्रहण, भारत के सभी हिस्सों में देगा दिखाई

इस साल देश में सदी का सबसे लंबा चंद्र ग्रहण दिखेगा ये चंद्रग्रहण देश के सभी हिस्सों में  27 जुलाई को दिखाई देगा। इसके आलावा ये चंद्रग्रहण  दक्षिण अमेरिका , अफ्रीका , पश्चिम एशिया और मध्य एशिया के कुछ हिस्सों में भी दिखाई देगा।

भारत के सभी हिस्सों में देखा जा सकेगा

source

एमपी बिरला इंस्टीट्यूट आॅफ फंडामेंटल रिसर्च , एमपी बिरला प्लेनेटेरियम के निदेशक देवीप्रसाद दुआरी ने बताया है कि , ‘भारत के लोग खुशकिस्मत हैं जब उन्हें आंशिक चन्द्रगहण और पूर्ण चंद्रग्रहण देश के सभी हिस्सों से पूरी तरह से देखने का मौका मिल रहा है  ।

चंद्रग्रहण के दौरान चंद्रमा लाल रंग का दिखाई देगा। इस खगोलीय घटना को ‘ब्लड मून ‘ कहा जाता है। 

27 जुलाई को रात 11 बजकर 54 मिनट से शुरू होगा चंद्रग्रहण

 Chandra Grahan 2018

source

आंशिक ग्रहण एक घंटे से अधिक समय का होगा एवं पूर्ण चंद्र ग्रहण एक घंटे 43 मिनट का होगा आंशिक चंद्र ग्रहण 27 जुलाई को भारतीय समयानुसार रात 11 बज कर 54 मिनट पर शुरू होगा जबकि पूर्ण चंद्र ग्रहण 28 जुलाई को दोपहर एक बजे शुरू होगा। वैज्ञानिक ने बताया कि चंद्रमा 28 जुलाई को दोपहर  1 बजकर 52 मिनट से लेकर 2 बजकर 43 मिनट तक सबसे ज्यादा अंधकार में रहेगा।इस अवधि के बाद 28 जुलाई को तड़के 3 बज कर 49 मिनट तक आंशिक चंद्र ग्रहण रहेगा।

खगोलीय घटनाओं में रुचि रखने वाले लोगों के लिए यह अच्छा मौका 

century longest lunar eclipse 2018 July

source

भारत में खगोलीय घटनाओं में रुचि रखने वाले लोगों के लिए यह सुनहरा अवसर होगा क्योंकि ग्रहण लगभग पूरी रात दिखाई देगा। ” 27 जुलाई को पूर्ण चंद्र ग्रहण के दौरान चंद्रमा पृथ्वी की छाया के मध्य हिस्से से होकर गुजरेगा।

चंद्रग्रहण के दौरान दो से तीन बार बदलेगा चन्द्रमा का रंग

blood moon 2018

source

पूर्ण चंद्र ग्रहण के दौरान चंद्रमा जब पृथ्वी की छाया से होकर गुजरता है तो वह चमकीले नारंगी रंग से लाल रंग का हो जाता है और एक दुर्लभ घटना के कारण गहरे भूरे रंग से और अधिक गहरा हो जाता है। यही कारण है कि पूर्ण चंद्र ग्रहण लगता है और इस स्थिति में इसे ‘ब्लड मून’ कहा जाता है।

अच्छी गुणवत्ता वाली दूरबीन से बेहतर एक्सपीरियंस मिलेगा।

source

यह पूछे जाने पर कि क्या चंद्र ग्रहण को बिना किसी उपकरण के आंखों से देखना सुरक्षित होगा , इस पर दुआरी ने कहा , ” सौर ग्रहणकी तरह चंद्र ग्रहण देखने के लिए कोई विशेष उपकरण की जरुरत  नहीं होती । न ही ग्रहण देखने के लिए टेलीस्कोप की जरुरत है लेकिन अच्छी गुणवत्ता वाली दूरबीन से बेहतर एक्सपीरियंस मिलेगा।

About the author

Neelesh

Neelesh

Movie and Tech lover. Inspired and Hardcore Learner Content Producer, Love to write and create. Unlocking thoughts and Ideas, share and experience the things happened around. Speak less that way write.

Add Comment

Click here to post a comment

विज्ञापन